नारियल के पत्तों से बना रहे स्ट्रॉ, देश ही नहीं विदेश में भी है डिमांड

आज कल हर कोई कुछ ना कुछ बिजनेस करना पसंद करता हैं और छोटा मोटा बिजनेस करके अच्छे पैसे कमाता है.

वैसे ऐसे काफी सारे बिजनेस मौजूद हैं जिसे आज लोग करते हैं. आज हम आपको एक ऐसे बिजनेस के बारे में बताएंगे जिसे आज सिर्फ 15 महिलाएं करती हैं और आज ये एक बड़ा बिजनेस बन गया है.

“कोकोस लिफी स्ट्रॉ” जिसका आइडिया ग्राहकों के फीडबैक से आया


आज हम जिस बिजनेस की बात कर रहे हैं वो बिजनेस नारियल के पत्तों से स्ट्रॉ बनाने का हैं और ये बिजनेस बैंगलोर में शुरू किया गया है और इस स्टार्ट अप कंपनी का नाम कोकोस लिफी स्ट्रॉ रखा गया हैं.



इस बिजनेस की बात करें तो इस बिजनेस की शुरुआत साल 2018 में की गई थी. इस बिजनेस में इको फ्रेंडली तरीके से नारियल के सुखे पत्तों से स्ट्रॉ बनाया जाता है और हर रोज 10000 स्ट्रॉ बनाएं जातें और ये बिजनेस काफी बड़ा बन चुका है और इन स्ट्रॉ की काफी भारी मांग है.

इस बिजनेस की शुरुआत बैंगलोर के मनीगंदन कुमारप्पन ने की.



ये कंपनी नारियल के सुखे पत्तों से स्ट्रॉ बनाती है और नारियल के सुखे पत्ते रास्ते पर भी काफी पड़े रहते जिसका इस्तेमाल ये कंपनी स्ट्रॉ बनाने में करती हैं. पहले उन सुखे पत्तों को अच्छे से साफ किया जाता है और उसको और भी मजबूत बनाया जाता है.

इन स्ट्रॉ को बनाने का काम 15 महिलाएं करती हैं जो गरीब परिवार से ताल्लुक रखती हैं जिनको यहां नौकरी पर रखा गया है और ये स्ट्रॉ बनाने का सभी काम यहीं महिलाएं करती हैं.

विदेशों में भी है डिमांड


इन स्ट्रॉ का इस्तेमाल भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में भी किया जाता है और बड़े पैमाने पर इसका निर्यात विदेशों में किया जाता है. इन स्ट्रॉ को कनाडा, अॉस्ट्रेलिया, अमेरिका, जर्मनी जैसे देशों में भेजा जाता है और बड़ी बड़ी कंपनिया इसकी मांग करती हैं.

अगर हर कोई ऐसे दिमाग लगाकर कोई बिजनेस करें तो आपको जरूर सफलता मिलेगी जिससे आपका बड़ा नाम होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *